Tuesday, November 10, 2015

अंधेरे को हमेशा दिल से हटाती रहना
इस दीवाली से तू, रोज मुस्काती रहना
रोक लूँगा हर आँधीं को आने से तुझ तक
सदा दीपक की तरह, तू जगमगाती रहना

मुश्किल होता है

यादों को भुलाना
मुश्किल तो होता है
अनजानों को प्यार देना
मुश्किल तो होता है

काफ़ी अरसे के बाद
सामने वो आयें तो
मुस्कुरा के गम छुपाना
मुश्किल तो होता है

आसानी से नही भूल सकते
जिन्हें जगह दी हो दिल में
दिल को समझना
मुश्किल तो होता है

भारी महफ़िल मे कोई
अचानक से याद आ जाए
फिर आँसू छुपाना
मुश्किल तो होता है

हर पल परवाह करने वाला
अचानक से दूर हो जाए
दिल को यकीन दिलाना
मुश्किल तो होता है

आज तरसते हैं एक
प्यार भरी नज़र के लिये
बेहिसाब प्यार देने वालों
का हिसाब चुकाना
मुश्किल तो होता है