Sunday, August 3, 2014

तू मुस्कुराऐ हर पल

खुदा  से बस ये आरजू है मेरी
हर खवाइश पूरी हो तेरी
सदा मुस्कुराए तू इस तरह से
परछाई में भी ख़ुशी झलके तेरी

हर पल तेरे लिए खास रहे
एक पल भी न तू उदास रहे
चेहरे पे ख़ुशी रहे हमेशा ऐसे
खुशबु जैसे फूल के साथ रहे

हर सुबह हसी , ख़ुशी की शाम हो
प्यार अपनापन हमेशा तेरे नाम हो
शोहरत पैसा इज्जत मिले तुझे इतनी
आसमा जमीन हर तरफ तेरा नाम हो

आसूं न तेरी पलकों पे ठहर पाये
"तम" न कभी तेरी राहों  में आये
हर कोशिश ऐसे कामयाब हो तेरी
सफलता भी तेरे गीत गुनगुनाये

मुस्कान तेरी, खुद को गिरवी
रख के भी खरीद लायें
तू हसे खिले हज़ारो साल
काश मेरी उम्र भी तुझे लग जाये